url full form

URL का फुल फॉर्म क्या हैं ? और यह कैसे काम करता हैं।

URL क्या हैं ?

URL  का पूरा नाम यूनिफार्म रिसोर्स लोकेटर हैं जिसका हिंदी में अर्थ होता हैं सम स्त्रोत निर्धारक। यह यूनिफार्म रिसोर्स आइडेंटिफायर का सबसेट होता हैं जिससे यह ज्ञात किया जाता हैं वेबसाइट का पता क्या हैं। URL आमतौर पर वेब पेजो को बताने का माध्यम हैं। URL का उपयोग फाइल ट्रांसफर,इ-मेल, डेटाबेस सम्बंधित अनुप्रयोगो के लिए किया जाता हैं।

यूआरएल का काम आमतौर पर वेबसाइट तथा वेब पेजों तक आपको ले जाना होता हैं ,किसी भी URL के तीन भाग होते हैं।

  1. प्रोटोकॉल (PROTOCOL )
  2. होस्ट  नाम (Host  Name)
  3. पाथ (Path)

URL को इन्वेन्ट सन 1994 में TIM BERNER LEE (टिम बर्नर ली ) द्वारा किया गया था, टिम बर्नर ली ने ही WWW (वर्ल्ड वाइड वेब ) का आविष्कार किया था।

URL का फुल फॉर्म क्या हैं ?

URL का फुल फॉर्म यूनिफार्म रिसोर्स लोकेटर हैं जहाँ –

U = UNIFORM

R = RESOURCE

L = LOCATER

URL कैसे काम करता हैं ?

यूआरएल एक फॉर्मटेड टेक्स्ट स्ट्रिंग हैं जो मुख्यता किसी रिसोर्स को देखने के लिए प्रयोग किया जाता हैं, वह रिसोर्स कोई भी चीज हो सकती हैं जैसे वेबसाइट का पेज, ग्राफ़िक्स, या कोई प्रोग्राम आदि।

इंटरनेट में यूआरएल का प्रयोग किसी वेबसाइट तक पहुंचने के लिए किया जाता हैं कंप्यूटर हर वेबसाइट को उसके IP एड्रेस से पहचानता हैं और उसी से उस साइट पर डायरेक्ट पहुँचता हैं कंप्यूटर हमारी लैंग्वेज को नहीं समझता हैं इसलिए हम IP ADRESS के द्वारा उस वेबसाइट पर जा पाते हैं,

जब हम किसी वेबसाइट को खोलने का प्रयाश करते हैं तो हमें उस वेबसाइट का नाम अपने ब्राउज़र में डालना पड़ता हैं क्योंकि हम हर वेबसाइट का IP  अड्रेस तो याद नहीं कर सकते हैं इसीलिये हर वेबसाइट का अपना एक डोमेन नाम रहता हैं जैसे ही हम किसी यूआरएल को टाइप करते हैं तो उसका डोमेन नाम उस DNS सिस्टम की सहायता से उसके IP ADRESS से कनेक्ट कर देता हैं और हम उस वेबसाइट पर पहुँच जाते हैं।

सिक्योर यूआरएल क्या हैं ?

जब हम ब्राउज़र में किसी URL को टाइप करते हैं तो  यदि यूआरएल सिक्योर हैं तो वह हमें HTTP// से सुरु होता हुआ दिखाई देगा, लेकिन अगर वह सिक्योर नहीं हैं तो वह HTTP// सिक्योर नहीं दिखाई देगा। जो URL HTTP// सिक्योर नहीं होते हैं उनमे अपनी पर्सनल इनफार्मेशन डालने से बचे क्योंकि अगर आपने इन साइटो पर अपनी जानकारी साझा की तो आपके पर्सनल जानकारी को नुकसान पहुँच सकता हैं इसलिए हमेशा सिक्योर साइट पर ही अपने बैंक से सम्बंधित या OTHER जानकारी साझा करे।

धन्यबाद। आपको हमारी पोस्ट URL क्या हैं एवं  कैसे कार्य करता हैं कैसी लगी हमें कमेंट में जरूर बताये।

यह भी पढें –

2 thoughts on “URL का फुल फॉर्म क्या हैं ? और यह कैसे काम करता हैं।”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *